सोमवार, 24 जनवरी 2011

ÅUèßè Ùð Üè ¼êÏ×é¢ãUè ·¤è ÁæÙ
ÖæS·¤ÚU ‹ØêÁ. ÚU梿è
ÚUæÁÏæÙè ·¤ð¤ ÕçÚUØæÌê çSÍÌ ßâé¢ÏÚUæ »æÇðüUÙ ·ð¤ ÜñÅU Ù¢ÕÚU x®x ×𢠰·¤ °ðâè ƒæÅUÙæ ƒæÅUèÐ çÁâð âéÙ·¤ÚU ãUÚU ·¤ô§ü ãñUÚUæÙ ÚUãU »ØæÐ ƒæÚU ×ð´ ÚU¹ð ÅUèßè (¥ôçÙÇUæ) Ùð ×æâê× ¥‹ßðáæ(¼ô ßáü) ·¤è ÁæÙ Üð ÜèÐ ƒæÅUÙæ ç¼Ù ·ð¤ ·¤ÚUèÕ ¼â ÕÁð ·¤è ãñUÐ »æÇðüUÙ ×ð´ UÚUãU ÚUãðU Üô»ô´ ·¤ô Áñâè ãUè ƒæÅUÙæ ·¤è ¹ÕÚU ç×Üè, ßñâð âÖè ƒæÅUÙæSÍÜ ·¤è ÌÚUȤ Öæ»ð´Ð ƒæÅUÙæ ·ð¤ ß€Ì ƒæÚU ×ð´ ×ëÌ·¤æ ¥‹ßðáæ ¥õÚU ©Uâ·¤è ×æ¢ ÍèÐ ×ëÌ·¤æ ·ð¤ çÂÌæ Ï×ðZ¼ý ·é¤×æÚU çÕL¤¥æ §âß€Ì ÚU梿è ×ð´ ÙãUè´ ãñUÐ ßð çÙÁè ·¤æ× âð ¥ÂÙð ÂñÌë·¤ ƒæÚU ¥ôçǸâæ ×ð´ ãñUÐ ãUæÜæ¢ç·¤, ÂǸUôçâØô´ Ùð ȤôÙ ÂÚU ©U‹ãð´U ƒæÅUÙæ ·¤è âê¿Ùæ ¼ð ¼è ãñUÐ ßð ¼ðÚU àææ× Ì·¤ ÚU梿è Âãé¢U¿¢ð»ðUÐ §â·ð¤ Õæ¼ ãUè ¥‹ßðáæ ·¤æ ¥¢çÌ× â¢S·¤æÚU ç·¤Øæ ÁæØð»æÐ ßãU ÙæÕæÇüU,ÚU梿è ×ð´ âãUæØ·¤ ×ñÙðÁÚU ·ð¤ ¼ ÂÚU ·¤æØüÚUÌ ãñ´UÐ §â ƒæÅUÙæ ·ð¤ Õæ¼ âð ×ëÌ·¤æ ·¤è ×æ¢ ÕðãUôàæ ãñUÐ ÂǸUôçâØô´ Ùð ÕÌæØæ ç·¤ ©U‹ãð´U Ùè´¼ ·¤è ¼ßæ ¼è »Øè ãñUÐ ÁÕç·¤ ÕǸUè ÕðÅUè ¥Ù‹Øæ ·¤ô ÂǸUôâè ·ð¤ ƒæÚU ×ð´ ÚU¹æ »Øæ ãñUÐ ©Uâð ƒæÅUÙæ ·¤è ÁæÙ·¤æÚUè ÙãUè´ ãñUÐ
ÂǸUôçâØô´ ·ð¤ ¥ÙéâæÚU ¥æÁ âÕðÚÔU ÕǸUè ÕðÅUè ¥Ù‹Øæ ·¤ô S·ê¤Ü ÖðÁÙð ·ð¤ Õæ¼ çÕL¤¥æ ·¤è ˆÙè ¥õÚU ¥‹ßðáæ ƒæÚU ×ð´ ÍèÐ ¥Ù‹Øæ ÇUèÂè°â ×ð´ ·ð¤Áè ÅêU ·¤è ÀUæ˜ææ ãñUÐ ãU×ðàææ ·¤è ÌÚUãU ¥Ù‹Øæ ·¤ô ©Uâ·¤è ×æ¢ ¥õÚU ÕãUÙ ¼ôÙô´ ¥æòÅUô ×ð´ çÕÆUæÙð ·ð¤ çÜ° Ùè¿ð ¥æØè Íè´Ð ÕæØ-ÕæØ ·¤ãUæÐ §â·ð¤ Õæ¼ ßæÂâ ƒæÚU ×ð´ ¿Üè ¥æØè´Ð ç¼Ù ·ð¤ ¼â ÕÁ𠥿æÙ·¤ ÜñÅU ×ð´ ÁôÚU âð ¥æßæÁ ãéU¥æÐ ÁÕ ƒæÚU ·ð¤ ¥¢¼ÚU Âãé¢U¿ð´ Ìô ¼ð¹æ ·¤è ¥‹ßðáæ ÅUèßè ·ð¤ Ùè¿ð ¼Õè ãñUÐ Üô»ô´ Ùð ©Uâð ÚUæÙè ¥SÂÌæÜ Âãé¢U¿æØæÐ ÁãUæ¢ ç¿ç·¤ˆâ·¤ô´ Ùð ×ëÌ ƒæôçáÌ ·¤ÚU ç¼ØæÐ §â·ð¤ Õæ¼ ƒæÚU ×ð´ ÂêÚUæ ŽÜæò·¤ ¿è¹ Âé·¤æÚU âð »ê¢ÁÙð Ü»æÐ ÕÌæØæ ç·¤ ÅUèßè ÃãUèÜ SÅñ´UÇU ÂÚU ÚU¹æ ãéU¥æ ÍæÐ ãUæÜæ¢ç·¤, ÅUèßè ·¤ô ·é¤ÀU ÙãUè´ ãéU¥æ ãñUÐ ÅUèßè ×ëÌ·¤æ ·ð¤ ÀUæÌè ÂÚU ç»ÚUæ ÍæÐ çÁââð Ùæ·¤ â𠥈ØæçÏ·¤ ÚU€Ìâýæß ãô ÚUãUæ ÍæÐ ÜÜæÅU ÂÚU Öè ¿ôÅð´U ¥æØè ãñUÐ

1 टिप्पणी:

  1. गोमिया विधानसभा उपचुनाव के अंतिम दिन विपक्ष की साझा झामुमो उम्मीदवार बबीता देवी ने नमांकन किया । नमांकन के समय पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, भुवनेश्वर मेहता, हाजी हुसैन अंसारी, अरूप चटजी, मन्नान मलिक, इजराइल अंसारी, जगरनाथ महतो, योगेंद्र महतो समेत विपक्षी दलों के पमुख नेता मौजूद थे।

    नमांकन करने पूर्व सथानीय चिलरेन पार्क में महती जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा की झारखंड लूट का एटीएम बन गया हैं, लूट के पैसा कर्नाटक के चुनाव को जीतने में खर्च किया जा रहा हैं, मुख्यमंत्री लास बेगास में जाकर निवेशक ढूंढते हैं जो की दुनिया का सबसे बड़ा जुआ का अड्डा हैं। उन्होंने कहा कि खाने को अनाज नही है, सरकार शौचालय बनबा रही है, मजाकिया लहजे में कहा कि वे खाएंगे तभी तो निकालेंगे। राज्य में अपहरण,बलात्कार की घटनाओं बढ रही है। उन्होंने कहा कि मोमेंट्म झारखंड में 800 करोड़ खाने में खर्ज किया गया। सरकार दोमुंहा सांप है जिसका एक मुंह कमल छाप है दूसरा केला छाप है। हेमंत सोरेन ने कहा की रघुवर दिल्ली का लठैत है तथा प्रवासी मुख्यमंत्री है। पारा शिक्षकों को अधिकार मांगने पर लाठी मिलता है।

    सभा को संबोधित करते हुए सुबोधकांत सहाय ने कहा कि संपूर्ण विपक्षी पाटी की एकजुटता की शुरुआत झारखंड से हुई है जो अगले लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को उखाड़ फेकेंगा,साजिश के तहत विधायक की मेंबरी खत्म कर फंसाया जा रहा है। उन्हौंने कहा कि मोदी मदारी और रघुवर जमूरा है। सभा को गौतम सागर राणा, अरूप चटजी, हाजी हुसैन अंसारी, मननान मलिक समेत अनेक नेताओं ने संबोधित किया।

    संपूर्ण विपक्षी दल हुए एकजुट :
    हाल मे झारखंड में हुए नगर निगम तथा सथानीय निकायों के चुनाव में मिली शिरकत से सीख लेते हुए सभी विपक्षी दल एकजुट होने को मजबूर हो गए। नमांकन दाखिल के बहाने सभी विपक्षी पार्टियों ने एकजुटता का प्रदर्शन किया। पिछली बार योगेंद्र महतो को 97 हजार वोट मिले थे। आजसू के लंबोदर महतो के चुनाव में उतरने के बाद महतो वोटों का बिखराव तय है, लंबोदर महतो काफी समय से क्षेत्र में सकिय हैं। ऐसे मे विपक्षी दल की एकजुटता का लाभ कितना झामुमो को मिलेगा चुनाव के बाद पता चलेगा। सत्ता पक्ष के दिग्गजों का चुनाव प्रचार के बाद गोमिया का राजनीतिक तापमान और बढेगा जहां पर एशिया का सबसे बड़ा बारूद की फैकट्री है।

    उत्तर देंहटाएं